शिशु के लिए नारियल तेल के फायदे

83
READ BY
Photo Credit: Mom's Cuddle
Kirti Bhartari

Kirti Bhartari

I am mother of one. Beside nurturing her the best way I can and taking care of my family fronts, I am passionate about cooking and ayurvedas. I also like spending time around intellectuals. And, in future, I would like to start my own NGO with one motive - helping humanity.

Read this article in English
यह लेख English में पढ़ें।

No review found! Insert a valid review ID.

भले ही बाज़ार में शिशु सम्बन्धी अनगिनत उत्पाद उपलब्ध है, जो बहुत ही आकर्षक पैकिंग एवं योजनाओं के साथ आते है, इसके बावजूद भी शिशु के लिए नारियल तेल आज भी माता-पिता की पहली है। शिशु के लिए नारियल तेल के फायदे जानने के लिए यह लेख ज़रूर पढ़े।  

इस बात में कोई आश्चर्य नहीं कि शिशु सम्बन्धी ब्रांडेड उत्पाद बनाने वाली हर कंपनी यह दावा करती है कि उनके उत्पादों में किसी भी हानिकारक रसायनों का इस्तेमाल नहीं किया जाता, लेकिन फिर भी यह कह पाना कि इन उत्पादों का कोई दुष्प्रभाव नहीं होगा, बहुत ही मुश्किल है। अपने बच्चे की त्वचा पर गलत उत्पाद का उपयोग करने के मामले में, आपको बाद में पछताना पड़ सकता है। अस्थायी एलर्जी से स्थायी त्वचा के निशान तक, यह एक गलती आपको और आपके बच्चे को बहुत महंगी पड़ सकती है।

उदाहरण के लिए शिशु की मालिश के लिए ब्रांडेड तेल ही ले लीजिये। आपने भी ऐसा बहुत बार सुना होगा कि इन ब्रांडेड तेलों को खुशबूदार और देखने में आकर्षक बनाने के लिए, कई बार इनमे हानिकारक रसायन मिला दिए जाते है। शायद इसी वजह से, घर के बड़े-बुजुर्ग, शुरुआती महीनों में ऐसे किसी भी उत्पाद का इस्तेमाल न करने की सलाह देते है। उनके मुताबिक शुरू के कुछ महीनों के लिए नारियल तेल एक बेहतर विकल्प है। इस लेख के माध्यम से मैं आपको नारियल तेल के कुछ हैरान कर देने वाले फायदों के बारे में बताउंगी।

नारियल तेल की गुणवत्ता कैसे जाने?

उच्च गुणवत्ता का नारियल तेल हमेशा सफेद होता है और 24 डिग्री सेल्सियस से कम तापमान पर यह ठोस हो जाना चाहिए। अगर तापमान 24 डिग्री से ऊपर हो, तो इसका रंगहीन होना तय है। अगर ऐसा नहीं होता और आपको उसमे अलग-अलग रंग दिखते हैं, तो इसका मतलब है कि आपका नारियल तेल या तो कम गुणवत्ता वाला या फिर नकली है।

ज़रूर पढ़े – क्या नवजात शिशु के शरीर पर भी अत्यधिक बाल होना सामान्य है?

अब, हम शिशु के लिए नारियल तेल के फायदों की बात करते है।

1. खरोंच और त्वचा के निशानों को तेजी से भरने में मदद करता है – जब बच्चे रेंगना या चलना शुरू करते हैं, तो बाजुओं और घुटनों पर खरोंच या चोट का लगना आम बात है। ऐसी चोटों को टाला भी नहीं जा सकता। ऐसे में शिशु की क्षतिग्रस्त त्वचा पर नारियल तेल लगाने से त्वचा की मरम्मत और दर्द से छुटकारा, दोनों बहुत ही कम समय में मिल जाता है।

2. आमतौर पर पाए जाने वाले त्वचा विकारों के लिए बेहतर इलाज – बच्चों में अक्सर होने वाले मुँहासों, डायपर से होने वाले दानें, रुसी, और कई प्रकार के त्वचा विकारों के लिए नारियल का तेल एक बहुत ही सस्ता और उत्तम विकल्प है।

3. बच्चे की त्वचा के पोषण के लिए एक आसान सा समाधान – बच्चे को स्नान करवाने से पहले, पानी में थोड़ा सा नारियल तेल डाल दें। यह आपके शिशु की संवेदनशील त्वचा को बिना कोई नुकसान पहुंचाए, ज़रूरी पोषण देगा। शिशु के लिए खतरनाक रसायनों से बनाए गए महंगे साबुन या ब्रांडेड लोशन खरीदने की कोई आवश्यकता नहीं है।

ज़रूर पढ़े – अपने शिशु को कितनी बार और कैसे नहलाया जाना चाहिए?

4. फंगल संक्रमणों (Fungal Infection) के इलाज के लिए सर्वश्रेष्ठ – हम जानते हैं कि खमीर संक्रमण सबसे अधिक पाए गए संक्रमणों में से एक हैं। कई शोधकर्ताओं ने दावा किया है कि नारियल तेल candida albicans के खिलाफ बहुत प्रभावी है; एक फंगल (Fungus), कई फंगल संक्रमणों के लिए जिम्मेदार।

5. दांत निकलते समय होने वाली पीड़ा के लिए उत्तम इलाज – जब दांत निकलने की शुरुआत होती है, तो शिशुओं को काफी तकलीफ का सामना करना पड़ता है। ऐसे समय में अगर शिशु के मसूड़ों पर नारियल तेल की हल्के हाथों से मालिश की जाए, तो शिशु को बहुत आराम मिलेगा।

6. शिशुओं में कब्ज के लिए बेहतर – नारियल तेल एक प्राकृतिक रेचक के रूप में भी काम करता है, जो कि शिशुओं में कब्ज के लिए बेहतर इलाज है। इसके सेवन से पाचन क्रिया सही रहती है और शिशु को कब्ज़ नहीं होती। लेकिन, फिर भी अगर आपके शिशु को लम्बे समय तक कब्ज़ रहे, तो बाल रोग विशेषज्ञ से पूछना ही बेहतर है। इसके अलावा, इस बात का खास ध्यान रखें कि नारियल तेल केवल 1 वर्ष से अधिक के बच्चों को ही दिया जाना चाहिए और वह भी बाल रोग विशेषज्ञ से सलाह लेने के बाद।

7. मच्छर के काटने से होने वाली खुजली और घावों को दूर करता है – नारियल तेल की सरंचना ही ऐसी है कि यह मच्छर के काटने पर होने वाली खुजली और घावों का सबसे अच्छा उपाय है। किसी भी प्रभावित क्षेत्र पर  नारियल तेल लगाने से, यह बैक्टीरिया के प्रवेश के खिलाफ एक सुरक्षात्मक बाधा की तरह कार्य कर सकता है।

8. जुओं के खिलाफ एक प्रभावी हर्बल उपाय – दूसरे बच्चों के साथ खेलते वक़्त बच्चे बिल्कुल लापरवाह हो जाते है। यहीं से उनके सिर में जुओं का प्रवेश भी होता है। परन्तु, नारियल का तेल बच्चों के सिर में पड़ने वाली जुओं के खिलाफ एक प्रभावी हर्बल उपाय है। अगर उनके सिर पर नारियल तेल की अच्छे से मालिश की जाए, तो न केवल जुओं से राहत मिलेगी, बल्कि जुओं द्वारा छोड़े गए अण्डों से भी छुटकारा मिलेगा।

उम्मीद करती हूँ, आपको मेरे सुझाव पसंद आए होंगे। अगर आपके पास भी नारियल तेल से जुड़े कुछ और सुझाव हैं, तो हमसे ज़रूर बांटें। यदि आपने मेरे बताए सुझावों में से किसी सुझाव को इस्तेमाल करके देखा है, तो कृपया अपने अनुभवों को साझा करना न भूले।

0 User Rating (0 reviews)
How helpful was this article?
What people say... How was your experience
Sort by:

सबसे पहले अपना अनुभव बाँटे।

Verified Review
{{{ review.rating_title }}}
{{{review.rating_comment | nl2br}}}

Show more
{{ pageNumber+1 }}
How was your experience

Your browser does not support images upload. Please choose a modern one

Kirti Bhartari
I am mother of one. Beside nurturing her the best way I can and taking care of my family fronts, I am passionate about cooking and ayurvedas. I also like spending time around intellectuals. And, in future, I would like to start my own NGO with one motive - helping humanity.