लैक्टोजन 1 शिशु फार्मूला फ़ॉर्मूला – इस्तेमाल करने के बाद समीक्षा

446
User Rating
(0 राय)
READ BY
Review – Lactogen 1 Infant Formula
Review – Lactogen 1 Infant Formula
Photo Credit: Mom's Cuddle
Shruti Singh

Shruti Singh

A proud mom to a beautiful little baby girl, learning the art of parenting one day at a time. Experiencing the joys of being a mom for the first time. Excited and anxious about the journey. Takes being a stay-at-home mom as a challenge and there's nothing she would change about it.

Read this article in English
यह लेख English में पढ़ें।
समीक्षा
3.9 समीक्षक की रेटिंग
उपभोक्ता की रेटिंग 0 (0 राय)
फायदे
  1. लैक्टोजेन 1 किसी भी अन्य फ़ॉर्मूला के मुकाबले पचाने में आसान है।
  2. बाजार में उपलब्ध सबसे सस्ता फार्मूला है।
  3. शिशु की शौच के रंग में कोई बदलाव नहीं होता और ना ही किसी दुर्गंध की शिकायत होती है।
नुकसान
  1. अधिकांश शिशुओं को पेट मे दर्द की समस्या होती है।
  2. बच्चों में होने वाली क़ब्ज़ का कारण माना जाता है।
  3. लैक्टोजेन 1 में कोई प्रोबायोटिक्स नहीं है, जो कि बहुत जरूरी है।
सामान का निष्कर्ष
यदि आपके पास तंग बजट है तो लैक्टोजेन आपके बच्चे के लिए सबसे उपयुक्त है क्योंकि यह उचित मूल्य पर उपलब्ध है और बहुत से बच्चे इसके पक्ष में ही प्रतिक्रिया देते है.
पैकिंग
गुणवत्ता
मात्रा
पैसा वसूल
मूल्य

शिशु फार्मूला समीक्षा श्रृंखला में आज मैं लैक्टोजेन 1 शिशु फार्मूला पर  बात करना चाहूँगी। यह नेस्ले द्वारा उत्पादित है और इसकी सबसे बढ़िया बात इसकी सस्ती कीमत है। अन्य फ़ॉर्मूला ब्रांडों के मुकाबले, यह बहुत ही सस्ता है; 400 ग्राम के पैक की कीमत मात्र ₹281/-है।

नेस्ले का लैक्टोजेन एक बहुत ही पुराना ब्रांड है और यह हमेशा से ही मेरे आसपास रहा है। मुझे याद है कैसे मेरी चाची, मेरी चचेरी बहन (जो कि अब 23 साल की है) को दिया करती थी क्योंकि मेरी चाची किसी वजह से मेरी चचेरी बहन को स्तनपान नहीं करवा पाती थी। यह बहुत लंबे समय से बाजार में बेचा रहा है, इसलिए इसकी गुणवत्ता पर भी सवाल नहीं उठाया जा सकता। इसके साथ ही, लोगों ने वर्षों से इस ब्रांड पर अपना भरोसा दिखाया है। इसलिए मुझे इस पर पूरा विश्वास है।

Review on Nestle Lactogen 1
Review on Nestle Lactogen 1

अन्य ब्रांडों के समान, लैक्टोजेन 1 में भी बच्चे के विकास के लिए आवश्यक सभी मूल पोषक तत्व हैं। परंतु, यहाँ इस बात से मना नहीं किया जा सकता कि लैक्टोजेन 1 में प्रोबायोटिक्स नहीं है जो मूल रूप से एक अच्छा बैक्टीरिया होने के साथ शरीर के लिए एक जरूरी खमीर भी है। यदि आप नेस्ले के NAN Pro को देखते हैं, तो आपको उसकी पैकिंग पर यह स्पष्ट रूप से दिख जाएगा कि उनमे नैन प्रोबायोटिक्स है, जबकि लैक्टोजेन की पैकिंग पर इसके बारे में कुछ नहीं कहा गया है।

अन्य उपलब्ध शिशु फ़ॉर्मूलों की तरह, जब लैक्टोजेन 1 की बनावट की बात आती है तो इसमे आपको अन्य फ़ॉर्मूला ब्रांडों वाली ही स्थिरता दिखती है। सिमिलैक एडवांस 1, एनफामिल ए +, या लेक्टोजेन, इन सब की बनावट में मुझे कोई ख़ास अंतर नहीं मिला। परंतु जब आप इसको पानी में घोलते है तो आपको कई फ़र्क देखने को मिलते है।

ज़रूर पढ़े – समीक्षा – सिमिलैक अड्वान्स स्टेज 2

सबसे पहले, लेक्टोजेन बहुत ही हल्का है, जिस वजह से बच्चे को इसे पचाने में कोई खास तकलीफ़ नही होती। जल्दी पचना ही इसकी एक सबसे बड़ी कमी भी है क्योंकि इससे शिशु जल्दी भूखा हो जाता और वो दुबारा फीड की माँग करने लगता है। भूखा होने की वजह से वो रोने लगता है और इसका उसकी नींद और खेलकूद के समय पर भी असर पड़ता है।

लैक्टोजेन 1 की पैकिंग भी मुझे कुछ ख़ास पसंद नहीं आई। यह अन्य फ़ॉर्मूला ब्रांडों की तरह एक हवा-बंद डिब्बे में नहीं आता। एक बार जब आप प्लास्टिक की थैली को खोल लेते है, तो हर बार इसको इस्तेमाल करने के बाद आपको इसे एक ऐसे कंटेनर में रखना होगा जिसमे हवा ना जाती हो।

अब मैं उन अनुभवों और बदलावों की बात करना चाहूँगी जो मैने लैक्टोजेन 1 का उपयोग करने के बाद अपनी बेटी में देखे।

मैं शुरआत में खुश थी क्योंकि मेरी बेटी को इसे अपनाने में कोई दिक्कत नही हुई और उसके पेट ने भी इसे स्वीकार कर लिया। एक तो इसका मूल्य उचित था और दूसरा वो इसको पसंद करने लगी थी। तो मैने भी इसको देते रहने का फ़ैसला ले लिया था।

परंतु लैक्टोजेन देने के 2 दिनों के बाद ही मेरी बेटी ने अस्विकृति के लक्षण दिखाना शुरू कर दिए। वो जरूरत से ज़्यादा इसको बाहर निकालने लगी। इसके साथ ही उसको को बिल्कुल वैसे ही डकार आने लगे जैसे हमें तब आते है जब हमें एसिड रिफ्लेक्स की समस्या होती है और इससे मेरी बेटी को परेशानी होनी शुरू हो गई।

लेकिन उससे भी ज़्यादा मैं परेशान थी क्योंकि मैं यह जान ही नही पा रही थी कि उसके के ऐसा करने के पीछे लैक्टोजेन 1 था, जो मैं उसे पिछले 2-3 दिन से दे रही थी। क्योंकि मेरा भी यह पहला अनुभव था, इसलिए भी मैं थोड़ा बैचेन थी।

फीड बाहर निकालने के अलावा, वो बहुत रोती थी। पहले मैने सोचा कि उसके रोने के पीछे का प्रमुख कारण उसके पेट का दर्द है। लेकिन जैसे ही मैने उसका फ़ॉर्मूला बदला और उसे सिमीलैक देना शुरू किया, तो सब कुछ पहले की तरह सामान्य हो गया। वो ना तो रोई और ना ही उसने नए फ़ॉर्मूला को अस्वीकृत करके बाहर निकाला।

लैक्टोजेन 1 स्पष्ट रूप से मेरे बच्चे के संवेदनशील पेट के अनुरूप नहीं था यहाँ मैं यह भी कहना चाहूँगी कि मेरी बहुत सी ऐसी दोस्त है जो अपने शिशुओं को लैक्टोजेन बिना किसी समस्या के दे रहीं है और उनके शिशुओं ने भी कभी कोई  नकारात्मक प्रभाव नहीं दिखाए।

अगर आप मुझसे पूछेंगे कि मुझे लैक्टोजन में क्या सही लगा तो मैं यह ही कहना चाहूँगी कि इससे उसकी की शौच पर कोई दुष्प्रभाव या बुरा असर देखने को नहीं मिला। एक स्तनपान करने वाले शिशु की शौच आमतौर पर पीले-हरे रंग की होती है, जिसमें कोई दुर्गंध नहीं होती और डायपर बदलने में भी कोई दिक्कत नहीं होती।

ज़रूर पढ़े – समीक्षा – एनफ़ामिल ए + इन्फेंट फ़ॉर्मूला

ऐसा मैं इसलिए कह रहीं हूँ क्योंकि जब मैने अपनी बेटी को सिमीलैक और एनफ़ामिल खिलाया था तब उसकी शौच ना सिर्फ़ पीले-हरे से रंग बदलकर गहरे हरे रंग की हो गई थी, बल्कि उसमे से एक अकल्पनीय गंध भी आने लगी थी। लेकिन लैक्टोजेन देने के बाद ऐसा कुछ नही हुआ; ना तो रंग में कोई बदलाव हुआ ना ही किसी किस्म की दुर्गंध आई।

जैसा कि मैंने फ़ॉर्मूला फीड पर की गई अपनी पिछली समीक्षाओं में कहा था, मैं इस तथ्य पर दुबारा ज़ोर नहीं देना चाहूँगी कि जब बात शिशु के किसी फ़ॉर्मूला से पेट भरने की या पचाने की आती है तो हर शिशु अलग-अलग तरह की प्रतिक्रिया करता है और शिशुओं का ऐसा करना बहुत ही स्वाभाविक भी है।

मैं यह साफ कर देना चाहती हूँ कि ऐसा कतई नही है कि अगर कोई चीज़ मेरे शिशु के लिए बेहतर साबित हुई तो वो आपके शिशु के लिए भी अनुकूल होगी। इसके साथ ही इसकी भी गारंटी नहीं है कि अगर कोई चीज़ मेरे शिशु के पेट के लिए ठीक नही थी तो आपके शिशु के लिए भी ठीक नही बैठेगी।

असल में आपको फ़ॉर्मूला के साथ तब तक प्रयोग करते रहना पड़ेगा जब तक आप एक ऐसे विकल्प तक नहीं पहुँच जाते जो आपके शिशु के पेट के लिए पूरी तरह से उपयुक्त ना हो और साथ ही आपका शिशु उसे पीने में आनंद ना दिखाए।

फार्मूला दूध के बारे में और अधिक जानकारी

  • Write a Review
  • Ask a Question

User Rating

(0 राय)
लोगों के विचार आपका अनुभव कैसा रहा
Sort by:

सबसे पहले अपना अनुभव बाँटे।

Verified Review
{{{ review.rating_title }}}
{{{review.rating_comment | nl2br}}}

Show more
{{ pageNumber+1 }}
आपका अनुभव कैसा रहा

Your browser does not support images upload. Please choose a modern one

Important: Please consider uploading a proof of product with your review. It can be product photo or proof of purchase. Reviews with a verified proof of purchase have a verified user badge, leading to a great credibility and experience.

महत्वपूर्ण: कृपया अपनी समीक्षा के साथ उत्पाद का सबूत अपलोड करें। वह उत्पाद की फोटो या खरीद का प्रमाण हो सकता है।

Other Questions

अब तक का सबसे सस्ता और अच्छा फ़ॉर्मूला

Nestlé LACTOGEN 1 Infant Formula (Upto 6 Months)

Popular on Amazon

Amazon पर पॉपुलर

Price From ₹290

  • किसी भी अन्य सूत्र की तुलना में पचाने में आसान
  • अब तक का सबसे सस्ता और अच्छा फ़ॉर्मूला
  • 0-6 महीने के लिए उपयुक्त
Shruti Singh
A proud mom to a beautiful little baby girl, learning the art of parenting one day at a time. Experiencing the joys of being a mom for the first time. Excited and anxious about the journey. Takes being a stay-at-home mom as a challenge and there's nothing she would change about it.