स्तनपान से जुड़ी समस्याओं के लिए किए जाने वाले कुछ घरेलु उपचार

471
User Rating
(0 reviews)
READ BY
Home Remedies For Common Breastfeeding Problems
Home Remedies For Common Breastfeeding Problems
Photo Credit: pixabay.com
Read this article in English
यह लेख English में पढ़ें।

जैसा कि मैंने अपने पिछले लेख में कहा था कि स्तनपान करवाने वाली माताओं को अकसर स्तनपान से जुड़ी कई पीड़ाजनक समस्याओं से गुज़रना पड़ता है।

स्तनपान से जुड़ी समस्याओं का सबसे बेहतरीन इलाज लगातार स्तनपान करवाते रहना है। फिर भी कई बार इन समस्याओं का समाधान सिर्फ स्तनपान करवाते रहने से नहीं होता, बल्कि बाहरी उपचार की भी जरूरत पड़ती है। इस लेख के ज़रिए मैं स्तनपान से जुड़ी समस्याओं के लिए किए जाने वाले कुछ घरेलु उपचार, आपसे बांटना चाहूंगी।

पीड़ित और फटे हुए निपल्स

यह सलाह मुझे मेरे स्तनपान विशेषज्ञ ने दी थी। क्या आप जानते हैं कि आपके स्तन के दूध में एंटी-बैक्टीरियल और कई उपचारिक गुण भी होते हैं? पीड़ित और फटे हुए निपल्स के अतिरिक्त बहुत सारे मामले ऐसे होते है जिन में स्तन का दूध बहुत उपयोगी साबित हो सकता है। चाहे आपके निप्पल से रक्तस्राव हो रहा हो या आपके निप्पल पीड़ित या फटे हुए हों, तो आप अपने स्तन के दूध को प्रभावित निप्पल पर लगाए और थोड़ी देर ऐसे सूखने दे। इससे आपको राहत मिलने की पूरी उम्मीद है।

अगर ऐसा करने से आपको कोई आराम नहीं मिलता तो आप एक और बेहतरीन उपाय का इस्तेमाल कर सकती हैं। इसको करने के लिए आपको केवल एक साफ कपड़ा लेना है, इसे गर्म पानी में निचोड़ कर प्रभावित स्तन पर लगाएं। यह उपाय वास्तव में बहुत ही आरामदाई होता है।

अवरुद्ध दुग्ध नलिकाएं

सबसे पहले, यदि संभव हो तो स्तनपान करवाने का प्रयास करें। यदि किसी कारणवश ऐसा संभव नहीं है, तो गर्म पानी से स्नान करने के उपरांत, नारियल तेल के साथ प्रभावित स्तन पर हल्के-हल्के हाथों से मालिश करें। इस गर्म मालिश के पश्चात् अवरुद्ध दुग्ध नलिकाओं की वजह से होने वाली स्तनों की कठोरता से राहत मिलेगी। अगर हो सके तो आर्गेनिक नारियल तेल का उपयोग करने की कोशिश करें, क्योंकि अगर यह स्तनपान करवाते वक़्त बच्चे के मुंह में भी चला जाए, तो इस से आपके बच्चे को कोई नुकसान नहीं होगा। इसके अलावा, अगर स्तन में संक्रमण गठन की वजह से हुआ है, तो इसके उपचार के लिए आप लहसुन की एक पुत्थी ले और उस को पानी के साथ हर 2-3 घंटें के अंतराल पर ग्रहण करें।

अधिक मात्रा में दूध का उत्पादन करने की वजह से स्तनों में आने वाला भारीपन

भारी स्तनों के लिए सबसे अच्छा उपचार, स्तनपान करवाना है क्योंकि स्तनपान करवाने से भारी स्तनों को जो राहत मिलती है, वह किसी और उपाय से नहीं मिल सकती। इसके अलावा, हरी गोभी के पत्तों को रेफ्रिजरेटर में ठंडा करके अपने स्तनों पर लगाए। यकीन मानिए, यह ठंडे पत्ते आपको बहुत आराम देंगे।

इसके इलावा पम्पिंग भी एक ऐसा तरीका है जिससे आप भारी स्तनों से होने वाली पीड़ा को दूर कर सकते हैं। यह प्रक्रिया ना केवल स्तनों के भारीपन को दूर करने में सहायक होगी, बल्कि यह भी सुनिश्चित करेगा कि आपके दूध की आपूर्ति प्रभावित न हो।

स्तन संक्रमण या स्तन कैंसर

स्तनों में संक्रमण और उसके बाद स्तनों का कैंसर, आपके स्तनों का अन्य जीवाणुओं के संपर्क में आने से होता है। निप्पलों में रक्तस्राव या फ़टे होने की वजह से बैक्टीरिया को स्तनों में प्रवेश मिल जाता है। संक्रमण का कारण कोई भी हो, apple cider vinegar (सिरका), एक बढ़िया इलाज है। इसमें बैक्टीरिया से लड़ने के साथ-साथ उनके संक्रमण को फैलने से रोकने की भी क्षमता होती है।

आधा कप पानी में, 1 tbsp apple cider vinegar और एक चम्मच शहद मिला लें। इस मिश्रण को एक दिन में कम से कम 3-4 बार पिए, जब तक की संक्रमण ठीक नहीं हो जाता। इसके अलावा, अधिक राहत के लिए आप इस मिश्रण को संक्रमित स्तन पर भी लगा सकती हैं।

मुझे नहीं लगता कि मुझे इस तथ्य पर और ज़ोर देने की आवश्यकता है कि स्तनपान से जुड़ी किसी भी समस्या के चलते, स्तनपान करवाना बंद ना करे, फिर चाहे स्तनपान करवाते वक़्त दर्द ही क्यों न हो।

व्यक्तिगत रूप से, मैंने अपने शिशु को तब भी स्तनपान करवाया था जब मेरे निप्प्ल में गांठ थी। मैं आपको बता नहीं सकती कि यह मेरे लिए कितना दर्दनाक था। कुछ समय के लिए तो मैंने स्तनपान रोक भी दिया था। परन्तु, इससे मेरे स्तनों में भारीपन आ गया और उस वजह से मेरा यह दर्द और ज्यादा पीड़ाजनक हो गया था.

इसमें कोई आशंका नहीं है कि अगर आप स्तनपान से जुडी समस्याओं की पीड़ा से मुक्ति चाहती हैं, तो सबसे आसान उपाय स्तनपान करवाते रहना है। लेकिन अगर ऐसा कर पाना आपके लिए असंभव हो, तो आप स्तनपान से जुड़ी समस्याओं के लिए किए जाने वाले कुछ घरेलु उपचार, जो मैंने इस लेख के जरिये आपसे बांटे हैं, का इस्तेमाल करके तुरंत राहत प्राप्त कर सकती हैं।

स्तनपान के बारे में और अधिक जानकारी

  • Write a Review
  • Ask a Question
0 User Rating (0 reviews)
How helpful was this article?
What people say... Write your experience
Sort by:

सबसे पहले अपना अनुभव बाँटे।

Verified Review
{{{ review.rating_title }}}
{{{review.rating_comment | nl2br}}}

Show more
{{ pageNumber+1 }}
Write your experience

Your browser does not support images upload. Please choose a modern one

Latest Questions